हिंदी शायरी - लव शायरी - वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही.


हिंदी शायरी - HINDI SHAYARI



  


वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
मोहब्बत में प्रेमी कभी झुकता नही,
किसी की खुशियों के खातिर चुप है,
पर तू ये न समझना की मुझे दुःखता नही।
Vafa ka dariya kabhee rukata nahee,
Mohabbat mein premee kabhee jhukata nahee,
Kisee kee khushiyon ke khaatir chup hai,
Par too ye na samajhana kee mujhe duhkhata nahee.




Contact form

Send